वैक्सीनेशन और टीकाकरण क्या है ANM NOTES

STUDY MATERIAL

वैक्सीनेशन और टीकाकरण क्या है

वैक्सीनेशन और टीकाकरण दोनों ही तकनीकी शब्द हैं जिनका उपयोग बीमारियों के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करने के लिए विकसित की जाती है। यह दोनों आपस में सम्बंधित हैं, हालांकि ये दो अलग-अलग प्रक्रियाएं हैं।

वैक्सीनेशन:

वैक्सीनेशन एक मेडिकल प्रक्रिया है जिसमें एक या अधिक रोगों के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करने के लिए एक वैक्सीन का उपयोग किया जाता है। वैक्सीनेशन के माध्यम से एक अस्थायी या स्थायी रोगी के शरीर में एक सुरक्षा प्रतिक्रिया प्रयुक्त की जाती है, जिससे उनके शरीर में प्रतिरक्षा प्रणाली विकसित होती है। यह प्रतिरक्षा प्रणाली उन रोगों के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करती है जिनके लिए वैक्सीन विकसित की गई है। वैक्सीनेशन के माध्यम से, शरीर को रोग के लक्षणों के बिना रोग के विषाणुओं से परिचित कराया जाता है, जिससे शरीर रोग के खिलाफ सुरक्षित बन जाता है।

टीकाकरण:

 www.freenaukari.com

टीकाकरण एक वैक्सीनेशन प्रक्रिया है जिसमें वैक्सीन को शरीर में देने की व्यवस्था की जाती है। टीकाकरण का मतलब होता है कि एक वैक्सीन को शरीर में प्रवेश कराया जाता है ताकि शरीर उस वैक्सीन के विषाणुओं से परिचित हो जाए और विकसित रोग के खिलाफ प्रतिरक्षा प्रणाली विकसित कर सके। टीकाकरण द्वारा वैक्सीन को विभिन्न तरीकों से प्रवेश कराया जा सकता है, जैसे कि इंजेक्शन, मुंह से, नाक से आदि। टीकाकरण एक प्रभावी तरीका है जो एक व्यक्ति को विशेष रोगों से सुरक्षा प्रदान करने में मदद करता है और उन्हें रोग के खतरे से बचाने में मदद करता है।

वैक्सीनेशन और टीकाकरण एक मेडिकल प्रक्रिया है जिसमें एक रोग के खिलाफ सुरक्षा प्राप्त करने के लिए एक टीका (वैक्सीन) उपयोग किया जाता है। यह टीका विभिन्न रोगों के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करता है और शरीर को उस रोग के खिलाफ स्थायी प्रतिरक्षा विकसित करने में मदद करता है।

एक वैक्सीन एक स्वच्छ, गिरी हुई या मरे हुए रोगकारक कीटाणु, जैसे वायरस या बैक्टीरिया, या उनके अंशों (जैसे प्रोटीन या लिपिड) को संशोधित रूप से बनाए जाने वाले या शुद्धिकृत रूप से तैयार किए गए बाहरी पदार्थ होते हैं। जब यह टीका शरीर में प्रविष्ट होता है, तो यह शरीर के इम्यून सिस्टम को उस रोग के खिलाफ प्रतिरक्षा विकसित करने के लिए प्रेरित करता है।

OBJECTIVE TYPE HISTORY MCQ QUESTION 🙋

वैक्सीनेशन का मुख्य उद्देश्य है व्यक्ति को रोग के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करना और रोग के प्रसार को रोकने में मदद करना। जब व्यक्ति वैक्सीनेशन के माध्यम से टीकाकरण प्राप्त करता है, तो उसका शरीर रोग के संक्रमण से लड़ने के लिए तत्पर रहता है और जब वास्तविक रोग संक्रमण होता है, तो शरीर के इम्यून सिस्टम उसे तत्परी से संभोगी विधि का उपयोग करता है और उसे नष्ट करता है। इस प्रक्रिया के कारण, रोग के लक्षण मामूली या संक्रमण के कारण होते हैं और संक्रमण का खतरा कम होता है।

टीकाकरण के माध्यम से कई रोगों के खिलाफ सुरक्षा प्राप्त की जा सकती है, जैसे पोलियो, टीबी, हेपेटाइटिस, मस्तिष्क ज्वर, डिफ्थीरिया, कैंसर (उदाहरण के लिए, शरीर के कुछ अंशों के खिलाफ टीकाकरण), इन्फ्लुएंजा, कोविड-19 (नवीनतम संक्रमण) आदि।

यह जरूरी है कि टीकाकरण का उपयोग करने से पहले एक व्यक्ति किसी चिकित्सा पेशेवर से परामर्श करें और अपने स्वास्थ्य और टीकाकरण योग्यता की जांच करें।

वैक्सीनेशन: वैक्सीनेशन एक प्रक्रिया है जिसमें एक सुरक्षात्मक या बीमारी के प्रतिरक्षात्मक पदार्थ (वैक्सीन) का उपयोग करके शरीर को किसी विषाणु, पैथोजन या रोग के खिलाफ प्रतिरक्षा विकसित करने की क्रिया होती है। वैक्सीन में सामान्यतः मृत या कमजोर किये गए रोग के कीटाणु, टॉक्सीन या आक्सेलरेटेड अन्तिजन होते हैं। ये शरीर में प्रवेश करते हैं और इम्यून सिस्टम को प्रेरित करते हैं ताकि वह विशेष रोग के खिलाफ रक्षा क्रिया शुरू कर सके। वैक्सीनेशन एक प्रमुख उपाय है जिससे रोगों के फैलने को रोका जा सकता है और सामुदायिक स्वास्थ्य में सुधार किया जा सकता है।

टीकाकरण: टीकाकरण एक प्रकार का वैक्सीनेशन है जिसमें वैक्सीन को उपयोग करके रोग के प्रतिरक्षा विकसित की जाती है। इसमें शरीर में वैक्सीन के अंतर्गत सुरक्षात्मक या बीमारी के खिलाफ प्रतिरक्षा उत्पन्न करने वाले पदार्थों को इंजेक्शन, मुंह के जबड़ों में रबड़ी चढ़ाने, नाक में स्प्रे लगाने, आंखों में ड्रॉप्स डालने आदि के माध्यम से शरीर में प्रवेश कराया जाता है। टीकाकरण का मुख्य उद्देश्य होता है एक व्यक्ति को रोगों से सुरक्षित रखना और सामुदायिक स्वास्थ्य को सुरक्षित बनाना। टीकाकरण कार्यक्रमों के माध्यम से, विशेषतः बच्चों को, आमतौर पर खतरनाक रोगों से बचाया जाता है जो उनके लिए अधिक आपत्तिजनक हो सकते हैं।

वैक्सीनेशन और टीकाकरण, दोनों ही विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा समर्थित और प्रमाणितित चिकित्सा प्रथाओं हैं जो सामुदायिक स्वास्थ्य को सुधारने में मदद करती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *