इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना क्या है / महिलाओं के लिए खुशखबरी

ANGANWADI BHARTI 2023-24

इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना क्या है (What is Indira Gandhi Matritva Sahyog Yojana)

इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना (Indira Gandhi Matritva Sahyog Yojana) एक भारतीय सरकार द्वारा संचालित केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की योजना है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य है महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान सहायता और आरोग्य सुरक्षा प्रदान करना। यह योजना मुख्य रूप से गरीबी रेखा से नीचे के सामाजिक वर्ग की गर्भवती महिलाओं के लिए शुरू की गई है।

इस योजना के तहत, योग्य महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान आरोग्य सम्बन्धी सहायता के लिए वित्तीय मदद प्रदान की जाती है। इसके अंतर्गत, महिलाओं को निम्नलिखित सुविधाएं प्राप्त करने का मौका मिलता है:

  1. आरंभिक आरोग्य जांच: योग्य महिलाओं को गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में नि:शुल्क आरोग्य जांच कराने की सुविधा प्रदान की जाती है।
  2. आहार सहायता: इस योजना के अंतर्गत, गर्भवती महिलाओं को पोषणपूर्ण आहार और विटामिन टैबलेट्स की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।
  3. वित्तीय सहायता: योग्य महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान वित्तीय सहायता प्राप्त करने का मौका मिलता है। इससे महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान उचित पोषण, स्वास्थ्य सेवाएं, और आवश्यक उपचार की सुविधा मिलती है।

इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना का उद्घाटन नवंबर 2010 में किया गया था और इसका नाम महान राष्ट्रीय नेता और पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी के नाम पर रखा गया है। यह योजना मातृत्व देखभाल और महिला स्वास्थ्य के महत्वपूर्ण पहलुओं को समर्पित है और गरीबी रेखा से नीचे के वर्ग की महिलाओं को सहायता प्रदान करके उनकी स्वास्थ्य सुरक्षा में सुधार करने का उद्देश्य रखती है।

indra gandhi matritva sahyog yojna का योगता क्या है

इस योजना के अंतर्गत, गर्भवती महिलाओं को आर्थिक सहायता और मेडिकल सेवाओं की व्यवस्था प्रदान की जाती है। यह योजना गर्भवती महिलाओं के लिए एक नकद लाभ प्रदान करती है, जिसकी राशि पहले तिमाही (3 महीने) में 1000 रुपये होती है, दूसरे तिमाही (4-6 महीने) में 2000 रुपये होती है, और तीसरे तिमाही (7-9 महीने) में 2000 रुपये होती है।

इसके अलावा, योजना में शामिल गर्भवती महिलाओं को मुफ्त गर्भावस्था परीक्षण, खाद्य संपlement, नि:शुल्क दवाएँ और जरूरतमंद बच्चों के लिए नि:शुल्क टीकाकरण भी प्रदान किया जाता है।

यह योजना गरीबी रेखा से नीचे रहने वाली गर्भवती महिलाओं के लिए है जो केवल एक बच्चे की माता बनने वाली हैं या पहले से एक बच्चे की माता हैं। इसका मुख्य उद्देश्य उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान करके स्वस्थ और सुरक्षित मातृत्व अनुभव करने में मदद करना है।

इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग  योजना का लाभ किन किन महिलाओं को मिलेगा

राष्ट्रीय पोषणअभियान 2023

इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना (Indira Gandhi Matritva Sahyog Yojana) एक सरकारी योजना है जिसका मुख्य उद्देश्य मातृत्व आवास और स्वास्थ्य की सुरक्षा का समर्थन करना है। यह योजना मातृत्व के समय महिलाओं को आर्थिक मदद प्रदान करती है ताकि वे अपनी पोषण एवं स्वास्थ्य की जरूरतों को पूरा कर सकें।

यह योजना निम्नलिखित मातृत्व समय अवधि के लिए पात्र महिलाओं को समर्थित करती है:

  • पहली गर्भावस्था के दौरान: योजना पहली गर्भावस्था के दौरान आर्थिक सहायता प्रदान करती है।
  • दूसरी गर्भावस्था के दौरान: योजना दूसरी गर्भावस्था के दौरान आर्थिक सहायता प्रदान करती है।
  • तीसरी गर्भावस्था के दौरान: योजना तीसरी गर्भावस्था के दौरान आर्थिक सहायता प्रदान करती है।

इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना के तहत योजना के लिए पात्र महिलाओं को आर्थिक सहायता प्राप्त करने के लिए कुछ योग्यता मानदंड होते हैं, जैसे कि:

  • भारतीय नागरिकता धारक होना।
  • योजना में प्रावधानित आय सीमा के अंतर्गत आना।
  • योजना के लिए पंजीकृत गर्भवती महिला होना।

इसके अलावा, योजना की अन्य विशेषताएं और आर्थिक सहायता के लिए आवश्यक दस्तावेजों की सम्पूर्ण सूची के बारे में विस्तृत जानकारी के लिए, स्थानीय सरकार द्वारा प्रदान की गई नवीनतम अपडेट या आधिकारिक सरकारी वेबसाइट की जांच करें।

 

इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना में नकदी हस्तांतरण कैसे करें, इसकी प्रक्रिया निम्नलिखित है:

  1. सबसे पहले, आपको नवजात शिशु के जन्म के बाद आपकी स्थानीय पंचायत, जिला स्तरीय कार्यालय, या आरक्षित बैंक के पास जाना होगा। वहां आपको इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना के लिए आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा।
  2. आवेदन पत्र में आवश्यक जानकारी जैसे आपका नाम, पता, जन्म तिथि, आधार कार्ड नंबर, बैंक खाता विवरण, आदि भरें। इसके साथ ही, आपको अपनी गर्भावस्था की सत्यापन डॉक्यूमेंट जैसे जन्म प्रमाण-पत्र, आधार कार्ड, गर्भावस्था प्रमाण-पत्र, आदि की प्रतियां भी साथ ले जानी होंगी।
  3. आवेदन पत्र और आवश्यक दस्तावेजों को लेकर आपको पंचायत, जिला स्तरीय कार्यालय, या बैंक में जाकर जमा करना होगा। जरूरत पड़ने पर, आप स्थानीय अधिकारी की सहायता ले सकते हैं।
  4. आपका आवेदन संगठन द्वारा समीक्षित किया जाएगा और यदि सभी दस्तावेज़ सही हैं और योग्यता मानदंडों को पूरा करते हैं, तो आपका आवेदन स्वीकार होगा।
  5. आवंटित धनराशि आपके बैंक खाते में सीधे हस्तांतरित की जाएगी। आपको बैंक द्वारा आवंटित पैसे का उपयोग करने की सुविधा होगी।

सुझाव: इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना की विस्तृत जानकारी और आवेदन प्रक्रिया के लिए, आप अपने नजदीकी पंचायत, जिला स्तरीय कार्यालय, या बैंक में जाकर सहायता ले सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *