CTETक्या है २०२३ में , CTET EXAM की पूरी जानकारी हिंदी में

LETEST UPDATE TEACHING JOBS सरकारी योजना

 

अगर आप सीटेट परीक्षा देनाचाहते हैं तो  आपको CTET के बारे में बहुत अच्छी तरह से जानना  होगा या  पता होना चाहिए ताकि, आप बहुत अच्छी तरह से समझ पाए की सीटेट को महत्वपूर्ण क्यों दिया जाता है | 

CTET के बारे में सुने होंगे लेकिन आपने सुना है कि यह क्या है इसे करने से क्या होता है तो आज हम बताएंगे कि इस आर्टिकल में सीटेट परीक्षा से जुड़े सभी सवालों को जवाब मिलने वाला है 

दोस्तों आपसे बहुत दिन पहले एक समय था जब आदमी पढ़ने लिखने में बहुत कम रुचि रखता था, लेकिन आज के समय में ऐसा कुछ नहीं है हर कोई आदमी पढ़ा लिखा होना चाहता  है, तू ऐसा मैं शिक्षा देनी  होगी तब भी तू आदमी अच्छा शिक्षित हो पाएगा तो इसके लिए सबसे पहले टीचर को होना बहुत जरूरी है इसीलिए दोस्तों आप लोग टीचर बनकर बचो को   शिक्षित कर सकते हैं या अपना भी कैरियर शिक्षक में बना सकते हैं |

 शिक्षक बनने का बहुत सारा ऑप्शन है लेकिन सबसे अच्छा  ऑप्शन इसमें से एक सीटेट का एग्जाम है |

2011 में  शिक्षक बनने के लिए ग्रेजुएशन करना पड़ता था, और ग्रेजुएशन में मार्क  के हिसाब से मेरिट लिस्ट के आधार पर सिलेक्शन होता था | लेकिन 2011 के बाद सरकार ने   एक नियम लागू किया कि ग्रेजुएशन के बाद सीटेट एग्जाम पास करना होगा तो दोस्तों  आपके मन में अब सवाल उठा होगा कि सीटेट एग्जाम क्या है सीटेट का फुल फॉर्म क्या होता है, सीटेट एग्जाम के लिए क्वालिफिकेशन कितना होना चाहिए, दोस्तों हम सब कुछ इस लेख में आपको बताने वाले हैं 

सीटेट एग्जाम क्या है

अगर आपCTET एग्जाम पास करते हैं तो आपको प्राइमरी विद्यालय और उच्च माध्यमिक विद्यालय में पढ़ाने का मौका मिलता है | सीटेट एग्जाम पास करने के बाद आपकी योगिता और मानसिकता की जांच की जाएगी, इसके बाद आपका 2 पेपर का एग्जाम होगा अगर आप पहला पेपर पास  करते हैं तो आपको प्राइमरी विद्यालय(1 से 5 तक  ) में पढ़ाने का मौका मिलता है और अगर आप  दूसरा पेपर  पास करते हैं तो आपको उच्च माध्यमिक विद्यालय में यानी 6 से 8 तक के  क्लास के बच्चों को पढ़ाने का मौका मिलता है |

सीटेट एग्जाम पास करने के बाद इसका माननीय ( validity) कब तक रहता है

सीटेट एग्जाम की बाध्यता 7 साल था लेकिन इसे हटाकर  जीवन भर कर दिया और इसमें सबसे अच्छा बात यह है कि अगर आपको सीटेट एग्जाम में कम मार्ग आता है तो आप लोग दुबारा इस एग्जाम में बैठ सकते हैं और अच्छा मार्क  ला सकते हैं आप जितना बार एग्जाम देना चाहते है तो एग्जाम दे सकते हैं इसमें कोई बाध्यता नहीं है |

सीटेट( CTET) का पूरा नाम क्या है

सीटेट का पूरा नाम केंद्रीय अध्यापक पात्रता परीक्षा होता है

 Central Teacher Eligibility Test ( CTET)

सीटेट एग्जाम की योग्यता क्या है

सीटेट एग्जाम की योग्यता को दो भागों में बांटा गया है

पेपर 1

पेपर 2

बनिया सोशल मीडिया का मिलियनेयर

पेपर 1 और पेपर 2  की योगता का  अलग-अलग प्रावधान है |

सीटेट पेपर 1:- अगर आप  पास करते हैं तो आपको कक्षा 1 से 5  तक के विद्यार्थी को पढ़ाने का मौका मिलता है |

 

आप चाहे तो केवल Papper 1 का एग्जाम दे सकते हैं इसके लिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त से 12वीं पास होनी चाहिए और उसके बाद डीएलएड करना पड़ेगा जो 2 साल का कोर्स होता है |

 

सीटेट पेपर:- 2 अगर पास करते हैं तो आपको कक्षा 6 से 8 तक के विद्यार्थी को पढ़ाने का एक अच्छा मौका या अवसर मिलता है |

                         इसके लिए आपको 12वीं के परीक्षा किसी की मान्यता प्राप्त विद्यालय पास होनी चाहिए |

इसके बाद आपको  किसी भी  मान्यता प्राप्त विद्यालय से ग्रेजुएशन पास होना चाहिए ,BPSC Teacher Bahali और फिर आपको 3 साल का B.Ed का कोर्स करना पड़ेगा |

 

सीटेट एग्जाम की Age लिमिट क्या है

सीटेट एग्जाम के एज लिमिट कम से कम 18 साल रखा गया है,और अधिकतम एज सीमा की कोई लिमिट नहीं है

इसमें जो भी विद्यार्थी CTET की  एग्जाम देते हैं वह सिर्फ भारत का नागरिक होना चाहिए |

CTET एग्जाम की  तैयारी कैसे करें

अगर आप टीचर बनना चाहते हैं और इसका एग्जाम देना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले CTETकी परीक्षा के बारे में अच्छी तरह से पता होना चाहिए दोस्तों आज हम बताएंगे कि सीटेट तैयारी कैसे करें जिससे  अच्छा मार्क CTET में ला सके |

आप किसी भी एग्जाम कि अगर तैयारी करते हैं तो आपको सबसे पहले यह जरूरी है कि  उसका  का सिलेबस क्या है आपको उस सिलेबस को  आपको  को ध्यान में रखना पड़ेगा नहीं तो आप कितना भी तैयारी कर ले आप एग्जाम में अच्छा मार्ग नहीं ला सकते हैं तो दोस्तों आप सबसे पहले सिलेबस का ध्यान रखें और उसके हिसाब से एग्जाम का तैयारी करें | 

 अगर आप सीटेट का तैयारी करते हैं तो सबसे अच्छा यह है कि आप एनसीआरटी बुक पढ़ें यह सबसे अच्छा नोटबुक है जो सभी एग्जाम में आता है | 

आप रोज पुराने प्रश्नों का रिवाइज करें और प्रीवियस ईयर में जो पूछा गया है ,सीटेट में उसे अच्छी तरह से पढ़ें | 

आप अपने दोस्तों के साथ बैठकर मॉक टेस्ट करें जिनसे बहुत अच्छा तैयारी होता है |

CTET Syllabus

बाल विकास

 समावेशी शिक्षा की अवधारणा और बच्चों को समझाना

 शिक्षा शास्त्र और सिखाना 

भाषा पाठ्यक्रम 

संस्कृत

 हिंदी 

 गणित 

जनरल नॉलेज

जनरल साइंस 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *